स्वर्गीय परिवार और सांसारिक परिवार II

  • समय |
  • वाचन | 2293
‘WATV Media Cast’
छाया तब बनती है जब वास्तविकता होती है। क्योंकि आत्मिक दुनिया में स्वर्गीय परिवार है, तो शारीरिक दुनिया में जो छाया है, परिवार है।

जैसे सांसारिक परिवार, जो एक छाया है, लहू से संबंधित होता है, वैसे हम नई वाचा के फसह में प्रतिज्ञा किए गए मसीह के लहू के द्वारा ही स्वर्गीय परिवार के सदस्य बन सकते हैं।
वीडियोओडियो
मेरे द्वारा देखे गए उपदेश