한국어 English 日本語 中文 Deutsch Español Tiếng Việt Português Русский लॉग इनरजिस्टर

लॉग इन

आपका स्वागत है

Thank you for visiting the World Mission Society Church of God website.

You can log on to access the Members Only area of the website.
लॉग इन
आईडी
पासवर्ड

क्या पासवर्ड भूल गए है? / रजिस्टर

टेक्स्ट उपदेश

한국어 제목표시
टेक्स्ट उपदेशों को प्रिंट करना या उसका प्रेषण करना निषेध है। कृपया जो भी आपने एहसास प्राप्त किया, उसे आपके मन में रखिए और उसकी सिय्योन की सुगंध दूसरों के साथ बांटिए।

पृष्ठ »

prev1 2 3 4 5 6 7 8 9 ... 20 21next

एलोहीम परमेश्वर

엘로힘 하나님

अपने माता–पिता का पालन करना यह हर एक सन्तान का कर्तव्य होता है। उसी तरह से, मनुष्य का मूलभूत कर्तव्य परमेश्वर को जानना और उनकी आज्ञाओं का पालन करना है। सभी लोगों को इस संसार में ज्योति के रूप में आए परमेश्वर को पहचानना चाहिए। हालांकि, उनके लिए उन्हें पहचानना आसान नहीं है, क्योंकि, शैतान ने, जो “इस संसार का प्रभु” कहलाता है, लोगों के मनों को अंधा कर दिया है, ताकि वे मसीह के महिमा की ज्योति को देख न सकें।(2कुर 4:4) होशे 6:1–3 ... आओ, हम ज्ञान ढूंढ़ें, वरन् यहोवा का ज्ञान प्राप्त करने के लिये यत्न भी करें; क्योंकि यहोवा का प्रगट होना भोर का निश्चित है; वह वर्षा के समान हमारे ऊपर आएगा, वरन् बरसात के अन्त की वर्षा के समान ज...

पवित्र आत्मा और दुल्हिन

성령과 신부

संसार में अनगिनत चर्च परमेश्वर पर विश्वास करने का दावा करते हैं, लेकिन वास्तव में वे सब विभिन्न प्रकार के विचार रखते हैं। हर संप्रदाय अलग तरीके से परमेश्वर की आराधना करता है। यह एक अविवादित सबूत है कि ज्यादातर चर्चों के पास परमेश्वर का ज्ञान नहीं है। प्रेरितों के काम की पुस्तक में पौलुस के बारे में लिखा गया है कि जब वह यूनान में सुसमाचार का प्रचार कर रहा था, तब ‘अनजाने ईश्वर के लिए,’ लिखी हुई एक वेदी देखकर उसे बहुत ज्यादा अफसोस हुआ था। परमेश्वर की सही ढंग से आराधना करने के लिए हमें उन्हें पूर्ण रूप से समझना चाहिए। यह कितना ही बेतुका और मूर्खतापूर्ण है कि हम किसी अनजाने ईश्वर को अर्पण चढ़ाएं और उसकी आराधना करें! जब ...

जिसके कान हों वह परमेश्वर की आवाज सुनता है

귀 있는 자는 하나님 음성을 듣는다

आज बहुत से चर्च दावा करते हैं कि वे परमेश्वर का वचन सुनते हैं। वास्तव में, वे परमेश्वर के वचन का अर्थ नहीं समझते। बाइबल कहती है कि वे ऊंचा सुनते हैं। हमारे बारे में क्या? हमारे पास देखने के लिए आंखें हैं, सुनने के लिए कान हैं और समझने के लिए मन हैं। परमेश्वर को धन्यवाद देते हुए, आइए हम बाइबल के द्वारा ऊंचे कान के अर्थ को देखें। कानों से ऊंचा सुनने वाले लोग जो दूसरा कहता है उसे धीरे से समझने वाले व्यक्ति के बारे में लोग अक्सर ऐसा कहते हैं, “उसके कान खराब हैं।” इसी तरह, जो परमेश्वर कहते हैं उसे न समझने वाले व्यक्ति के बारे में बाइबल ऐसा कहती है, “उसके पास ऊंचा सुनने वाले कान हैं।” हमारे आसपास में बहुत से लोग परमेश्व...

प्रभु! मैं एक पापी मनुष्य हूं!

주여! 저는 죄인이로소이다

हमने स्वर्ग में पाप किया, और हम इस शरणनगर, पृथ्वी पर निकाल दिए गए थे। यह बहुत स्वाभाविक है कि हम अपने निज देश की अभिलाषा करते हैं। हम सभी उत्साह से स्वर्ग में वापस जाने की इच्छा रखते हैं, पर हम आसानी से भूल जाते हैं कि हम पापी हैं। अब आइए हम देखें कि हम पापियों का, जिन्हें पश्चाताप करने की जरूरत है, कर्तव्य क्या है, ताकि हम स्वर्ग के राज्य में लौट सकें। पापी होने की पहचान और बोध होना आवश्यक है बहुत से लोग खुद के बारे में नहीं जानते। हम भी नहीं जानते थे कि हम कौन हैं: पृथ्वी पर हमारे आने की वजह क्या था? क्यों हम अपने 70 या 80 वर्षों के जीवनकाल के दौरान कठिनाइयों से गुजरते हैं? ज्यादातर लोग एक महत्वपूर्ण पद पाने की आशा...

नए सिरे से जन्म लेना

거듭남

लोग अपने जीवन में बहुत कठिनाइयों और परीक्षणों का अनुभव करते हैं। अपने क्रूस को उठाते हुए, वे पीड़ा के मार्ग पर चलते हैं। यह यात्रियों का जीवन है। हमारे बारे में क्या जिन्होंने परमेश्वर को प्राप्त किया है? परमेश्वर के पास हमारे जीवन के लिए योजना है। अगर हम इस सत्य को महसूस करेंगे, हम समझेंगे कि हमारे वर्तमान समय का दुख, हमारे उद्धार और नए सिरे से जन्म लेने की क्रिया के लिए परमेश्वर की महान योजना का एक हिस्सा है। परमेश्वर की योजना में पीड़ा यह वह है जो अमेरिका में हुआ था। शिकागो में एक दुकान में आग लग गई थी, और वह दुकान आग से पूरी तरह नष्ट हो गई। उसका मालिक एक ऐसा मनुष्य था जो अपनी मेहनत से सफल हुआ और अधिक कठिनाइयों से ...

जब तक तुम में मसीह का रूप न बन जाए

그리스도의 형상이 이루기까지

उस दिन जब हम अपने परिश्रमों से विश्राम पाएंगे, हम में से हर एक अपने पिछले दिनों के परिश्रमों की याद करेगा। जब सुसमाचार का प्रत्येक कार्य, जो हमने संसार में किया है, स्वर्ग में लिखा जाएगा, तब यह देखा जाएगा कि हमने स्वर्ग की आशीष पाने के योग्य मसीही जीवन जिया है या नहीं। इसके साथ हमारा न्याय किया जाएगा। इस से पहले कि बचाव का दिन भूसी के समान जाता रहे, हमें सोचना चाहिए कि हमने स्वर्ग जाने के लिए अभी तक क्या तैयार नहीं किया है। जब दस कुंवारियों का दृष्टान्त देखें, पांच कुंवारियों ने तैयार होने से दुल्हे का स्वागत किया, लेकिन पांच कुंवारियां तैयार न होने से विवाह भोज में नहीं जा सकीं।(मत 25:1–13) स्वर्ग जाने के लिए, मुख्...

पहिलौठे का अधिकार और सौभाग्य

장자의 명분과 특권

हमारे सिय्योन के परिवार के सदस्यों ने संसार के सभी क्षेत्रों में बड़ी मेहनत से सुसमाचार के खेतों की जुताई की है। अब इस आत्मिक शरद् ऋतु में उनका पसीना और उनकी मेहनत बहुतायत से फल पैदा कर रही है। हम उन एलोहीम परमेश्वर को धन्यवाद और प्रशंसा चढ़ाते हैं जो भविष्यवाणियों के अनुसार बहुतायत से अच्छे फलों से हमें आशीर्वादित करते हैं। मैं विश्वास करता हूं कि हम सभी सदस्यों ने दास की नहीं, लेकिन पुत्र की मानसिकता के साथ नई वाचा के सुसमाचार का प्रचार किया है, इसलिए परमेश्वर ने हमारे हृदयों को देखकर जगत की उत्पति से पहले तैयार किए गए अच्छे फलों से हमें सिय्योन भरने की अनुमति दी है। हम दास नहीं, लेकिन स्वर्ग के पहिलौठे हैं, जिनके लिए ...

दासों की मानसिकता और पुत्रों की मानसिकता

종의 정신과 아들의 정신

हम ऐसे सेवक हैं जिन्हें परमेश्वर ने योग्य ठहराकर सुसमाचार का कार्य सौंपा है, और हम परमेश्वर के महान मिशन में भाग ले रहे हैं। फिर, सुसमाचार के कार्य के प्रति हमारा रवैया कैसा है? यह बहुत ही महत्वपूर्ण बात है। हम आत्मिक लवनेवालों के रूप में जो सुसमाचार के बीज फैलाते हैं और गेहूं इकट्ठे करते हैं, हमारे पास कौन सी मानसिकता है, दासों की मानसिकता या पुत्रों की मानसिकता? क्या हम सिर्फ आंगनों पर चलते हुए दासों की मानसिकता के साथ काम नहीं कर रहे हैं? दासों की मानसिकता और पुत्रों की मानसिकता में बड़ा अंतर है। पुत्र की मानसिकता वाला मनुष्य परमेश्वर के साथ दुख उठाता है कि उनके साथ महिमा भी पाए आइए हम ऐसा मानें कि एक बड़े खेत में ...

prev1 2 3 4 5 6 7 8 9 ... 20 21next