한국어 English 日本語 中文 Deutsch Español Tiếng Việt Português Русский लॉग इनरजिस्टर

लॉग इन

आपका स्वागत है

Thank you for visiting the World Mission Society Church of God website.

You can log on to access the Members Only area of the website.
लॉग इन
आईडी
पासवर्ड

क्या पासवर्ड भूल गए है? / रजिस्टर

टेक्स्ट उपदेश

한국어 제목표시
टेक्स्ट उपदेशों को प्रिंट करना या उसका प्रेषण करना निषेध है। कृपया जो भी आपने एहसास प्राप्त किया, उसे आपके मन में रखिए और उसकी सिय्योन की सुगंध दूसरों के साथ बांटिए।

पृष्ठ »

prev1 2 3 4 5 6 7 8 9 ... 22 23next

जीवन के जल का सोता

생명수의 샘

यरूशलेम माता के उद्धार का समाचार पूरे विश्व में प्रसारित होता जा रहा है, जिससे संसार के प्रत्येक महाद्वीप में अनेक आत्माएं परमेश्वर के पास आ रही हैं। माता की सच्चाई आत्मिक मास्टर कुंजी है जो कहीं भी बन्द मनुष्यों के मन को खोल सकती है। यह कितना आश्चर्यजनक है! लोग, जिन्होंने कई वर्ष तक सुसमाचार को नहीं सुना था, थोड़े समय के अन्दर खुले मन से सत्य को स्वीकार करते हैं। माता परमेश्वर के बारे में सत्य ने ही ऐसे असंभव कार्य को संभव कर दिया है। बाइबल ने भविष्यवाणी की कि जीवन का जल यरूशलेम से बह निकलेगा और जहां जहां यह जल बहता है, वहां वहां सभी प्राणी जीवन पाएंगे। आइए हम जीवन के जल के सोते के बारे में वचन का अध्ययन करें, और जी...

मैं अंधा था लेकिन अब मैं देख सकता हूं

나는 소경이었다, 그러나 지금은 본다

अंधे लोग, जो हमेशा दृश्य विकार के साथ रहे, वे देखने के मूल्य को किसी और से बेहतर जानते हैं, लेकिन जो जन्म से ही सबकुछ देखने में सक्षम होते हैं, वे उसे पूरी तरह से नहीं समझ सकते। क्या होगा यदि एक मनुष्य जो पूरे अंधकार में रहा, एक दिन दृष्टि पाए, जिससे वह दुनिया को साफ-साफ देख सकता है? उस क्षण, वह इतना आनंदित होगा कि वह उसे शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता। हमारे साथ भी ऐसा ही है। जब हम परमेश्वर से मिले और हमारी आत्मिक आंखें सत्य को देखने के लिए खुलीं, तब हमारी आत्माएं खुशी से कूदी होंगी और धन्यवाद से भरी होंगी। हालांकि, चूंकि हम हमेशा सत्य के वचनों को देखते हैं, तो समय के बीतने पर सबकुछ सामान्य हो जाता है। विश्वास के मा...

परमेश्वर और हमारे बीच का रिश्ता

하나님과 우리의 관계

परमेश्वर हमें “मेरी प्रजा”, “मेरी संतान” कहते हैं। इसका बड़ा महत्व है। मान लीजिए कि एक मछली है जो मछली की दुनिया में अन्य मछलियों पर एक अच्छा शासक बनने के लिए बुद्धिमान और उदार है। चाहे वह मछली कितनी भी प्रतिभाशाली क्यों न हो और उसके नेतृत्व के लिए उसका कितना ही सम्मानित और आदर क्यों न किया जाता हो, इसका हमारे दृष्टिकोण से कुछ लेना-देना नहीं है। उसी प्रकार, चाहे हम कितना भी उदार और प्रतिभाशाली क्यों न हों, जब परमेश्वर के दृष्टिकोण से मानव दुनिया देखी जाए, तो जब तक हम परमप्रधान परमेश्वर से रिश्ता न रखें तब तक हम उनके लिए कुछ भी नहीं हैं। परमेश्वर ने हम पर, जो कीड़े के समान हैं दया की है, और हमें वाचा, व्यवस्था और विधियों...

प्रायश्चित्त के दिन का अर्थ

대속죄일의 의미

सब्त और तीन बार में सात पर्व इत्यादि परमेश्वर के पर्व, जिनका वर्णन बाइबल में है, वे सिर्फ पुराने नियम नहीं हैं, लेकिन उनमें से हर एक के पास मानवजाति के उद्धार के लिए महान अर्थ है। परमेश्वर सिय्योन के लोगों को बचाते हैं जो पर्व मनाते हैं और जिन्होंने पर्वों के अनुसार बलिदान(आराधना) चढ़ाकर परमेश्वर से वाचा बांधी है, उन्हें “मेरे भक्त” कहकर बुलाते हैं(यश 33:20–24; भज 50:1–5)। परमेश्वर यह भी कहते हैं कि वह अपनी संतानों को इकट्ठा करेंगे जो अंतिम दिनों में भी पर्व मनाने के लिए प्रयास करते हैं, और पृथ्वी के सभी लोगों में उनकी कीर्ति और प्रशंसा फैलाएंगे(सप 3:14–20)। बाइबल में परमेश्वर की प्रतिज्ञाओं के अनुसार, लोग जो परमेश्वर के...

संसार की ओर जाग उठने की पुकार

세상을 깨우는 소리

हम बाइबल में देख सकते हैं कि जब बहुत सी आत्माओं को योना की पुकार और पतरस के प्रचार जैसी जाग उठने की पुकार लगाई गई तो उन्हें उद्धार की ओर ले आया गया। जैसे मुर्गा भोर के आगमन की पूर्व सूचना देने और लोगों को जगाने के लिए बांग देता है, वैसे ही परमेश्वर के लोगों को इस अंधकारमय और धुंधले संसार को सुसमाचार के प्रचार की पुकार से जगाना चाहिए। आत्मिक रूप से यह अव्यवस्था और अंधकार का युग है। जब तक हम संसार के प्रति जाग उठने की पुकार नहीं लगाएंगे, कोई भी आत्मिक रूप से इस वर्तमान समय को नहीं पहचान पाएगा। हमें एक ऊंची और साफ आवाज के साथ, आत्मिक रूप से गहरी नींद में सो रही आत्माओं को जगाना चाहिए, और उन्हें उस नरक से जहां वे जाने को वि...

दस तोड़े और मनुष्यों के मछुए

열 달란트와 사람 낚는 어부

हाल ही में परमेश्वर की इच्छा के अनुसार दुनिया भर में दस तोड़ों का आंदोलन सक्रिय रूप से चल रहा है। मैं विश्वास करता हूं कि सिय्योन के सदस्य यह सोचते हुए कि, ‘मुझे सौंपी गई दस आत्माओं को कैसे बचाना चाहिए?’ इस समय भी बहुत प्रार्थनाओं और अनुरोधों के साथ स्वर्गीय पिता और माता पर निर्भर करते हैं। दस तोड़ों का आंदोलन आत्माओं को बचाने का आंदोलन है, जो परमेश्वर ने हमें सौंपा है और आज्ञा दी है। इसमें परमेश्वर की इच्छा शामिल है कि हमें सोते नहीं रहना चाहिए, बल्कि सावधानी के साथ अपने पर नियन्त्रण रखना चाहिए और मशालें एवं तेल तैयार करके मसीह के आगमन की खुशी से प्रतीक्षा करनी चाहिए।(मत 25:1–13) आइए हम बाइबल के द्वारा उन एलोहीम परमेश्वर...

बोओ, तो काटोगे

심으라, 그리하면 거두리라

आत्मिक रूप से यह समय पतझड़ का मौसम है, और सिय्योन में फसल की कटनी अपने चरम पर है। परमेश्वर ने अपनी प्यारी संतानों को सुसमाचार–लवनेवालों का मिशन सौंपा है, जो जीवन के वचनों का प्रचार करके आत्माओं को बचाते हैं, और हम में से हर एक को एक चोखा हंसुआ भी दिया है।(मर 4:29; योए 3:13) प्रचुर मात्रा में फसल काटने के लिए बोने का प्रयास पहले होना चाहिए। अगर हम बोने और काटने के प्रयास के बिना सिर्फ फल की इच्छा करेंगे, हम कुछ भी नहीं पा सकते। जब हम मेहनत से सुसमाचार का बीज लोगों के मनों में बोते हैं, तब वह बढ़ता है और फल फलता है, है न? बीज की सृष्टि करते समय परमेश्वर ने उसमें पहले से ऐसा प्रोग्राम डाला: जैसे परमेश्वर ने कहा, “मनुष्य ज...

आइए हम अपना एकमात्र जीवन सुसमाचार के लिए जीएं

한 번뿐인 우리 인생, 복음 위해 살리라

इन दिनों सिय्योन के सदस्य उन दूरवर्ती देशों में भी, जहां सुसमाचार अभी तक नहीं पहुंचा था, बड़ी मेहनत से प्रचार कर रहे हैं। वे एक बार बीतने पर वापस न लौटने वाले समयों में सच में अर्थपूर्ण जीवन जी रहे हैं। विभिन्न प्रकार की मुश्किल परिस्थितियों में भी, वे बहुत सी आत्माओं को पिता और माता की बांहों में ले आते हैं। ऐसा करते हुए वे अपनी हृदयस्पर्शी अनुभूतियों और सुंदर कामों के द्वारा “नए प्रेरितों के काम” लिख रहे हैं, जो कोई भी लेखक नहीं लिख सकता। निस्संदेह, सिय्योन के सदस्य भी विदेश में प्रचार कर रहे सदस्यों के लिए एक मन होकर भोर को प्रार्थना करते हुए विदेश प्रचार मिशन में सहभागी हो रहे हैं। मैं विश्वास करता हूं कि यह भी उस सु...

prev1 2 3 4 5 6 7 8 9 ... 22 23next