한국어 English 日本語 中文 Deutsch Español Tiếng Việt Português Русский लॉग इनरजिस्टर

लॉग इन

आपका स्वागत है

Thank you for visiting the World Mission Society Church of God website.

You can log on to access the Members Only area of the website.
लॉग इन
आईडी
पासवर्ड

क्या पासवर्ड भूल गए है? / रजिस्टर

कोरिया

16वां मलिकिसिदक साहित्य पुरस्कार वितरण समारोह और 1ला एलोहीम वीडियो महोत्सव पुरस्कार वितरण समारोह

  • देश | कोरिया
  • तिथि | 06/दिसंबर/2015
2000 के दशक की शुरुआत में चर्च ऑफ गॉड के पास 300 चर्च थे। समय बीतने के साथ चर्चों की संख्या लगातार बढ़ रही है, और आज दुनिया भर में 2,500 से अधिक चर्च स्थापित किए गए हैं। मिशनरी काम को बढ़ावा देने के लिए और चर्च के सदस्यों के विश्वास को मजबूत बनाने के लिए प्रकाशन और वीडियो अधिक उपयोगी बने हैं। इस कारण से प्रकाशन और वीडियो के उत्पादन को सहयोग देने वाले सदस्यों को तैयार करना भी आवश्यक हो गया है।

ⓒ 2015 WATV
6 दिसंबर को 16वां मलिकिसिदक साहित्य पुरस्कार वितरण समारोह और 1ला एलोहीम वीडियो महोत्सव पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया। मलिकिसिदक साहित्य पुरस्कार वितरण समारोह एक वार्षिक समारोह है जिसने सोलह वर्षों तक साहित्यिक मिशन में अहम भूमिका निभाने वाले उत्कृष्ट रचनाकारों को उत्पन्न किया है। इस वर्ष तक 40,000 से अधिक रचनाएं पेश की गई हैं, और लगभग 400 विजेता सुसमाचार के विभिन्न क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा प्रदर्शित कर रहे हैं। चूंकि वीडियो का बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है, इसलिए वीडियो के उत्पादन में सक्रियता से काम करने वाले सेवकों की खोज में इस वर्ष पहली बार एलोहीम वीडियो महोत्सव पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया।

ये पुरस्कार वितरण समारोह कोरिया के नई यरूशलेम मंदिर में आयोजित किए गए। इस समारोह में 900 सदस्यों ने भाग लिया जो प्रत्येक क्षेत्र में काम करते हैं, जैसे पुरस्कार विजेता, फाइनलिस्ट, परीक्षक, साहित्य संगठन के सदस्य, प्रकाशन व वीडियो के क्षेत्र में काम करने वाले आदि।

माता ने उन सदस्यों को आशीष दी जिन्होंने कड़ी मेहनत की ताकि सुसमाचार के कार्य का जोश आग की तरह तीव्रता से जल उठे। माता ने यह कहा, “प्रकाशन और वीडियो के द्वारा संसार के दूरदराज के अंदरूनी इलाकों में भी परमेश्वर का प्रेम और सत्य प्रसारित हो रहा है,” और उन्होंने सदस्यों की प्रशंसा की जो परमेश्वर की दी हुई प्रतिभाओं के साथ आत्माओं को बचाते हैं। फिर माता ने कहा, “कृपया यह न भूलिए कि आप सभी जातियों के लोगों में मसीह की सुगंध तभी पहुंचा सकते हैं जब लेख लिखने, वीडियो बनाने, फोटो खींचने, चित्रकारी करने इत्यादि की अलग–अलग प्रतिभा या क्षमता रखने वाले सदस्य प्रेम और एकता के साथ मिलजुलकर काम करें। आइए हम परमेश्वर के द्वारा दिए गए अपने मिशन को पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास करें।”

प्रधान पादरी किम जू चिअल ने बाइबल के वचन का हवाला देते हुए कहा, “अच्छी रचना का सृजन करने का रहस्य ‘दीनता से एक दूसरे को अपने से अच्छा समझने वाला मन(फिलि 2:3–8)’ है, क्योंकि जब कोई लोगों के उद्धार और आशीष की कामना करते हुए कुछ रचना का सृजन करने का प्रयास करे, तब उसकी रचना बहुत से लोगों का दिल छू सकती है। उन्होंने कहा, “आइए हम परमेश्वर की ज्योति की संतानों के रूप में अंधेरे संसार में उजाला लाने का अपना कर्तव्य पूरा करें और प्रेम व सत्य में लोगों की अगुवाई करें जो अंधकार में भटक रहे हैं।”

ⓒ 2015 WATV

समारोह शुरू होने से पहले तीन वीडियो प्रस्तुत किए गए। एक एनीमेशन वीडियो “माता की पीठ” ने, जो मलिकिसिदक साहित्य पुरस्कार समारोह में एक विजेता निबंध पर आधारित था, माता के समर्पित प्रेम और बलिदान को सहजता से चित्रित किया। एक वीडियो “एक फोन कॉल” एलोहीम वीडियो महोत्सव पुरस्कार समारोह में एक विजेता सेमी–डॉक्यूमेन्टरी था और उसमें परिवार के सदस्यों के साथ संवाद करने का संदेश दिया गया। एलोहीम वीडियो महोत्सव पुरस्कार समारोह में एक विजेता म्यूजिक वीडियो “वी लव यू” में छात्र सदस्यों के कार्य को सूझबूझ–पूर्ण और हास्यपूर्ण तरीके से दिखाया गया। हंसते हुए और आंसू बहाते हुए दर्शकों को प्रकाशन और वीडियो की शक्ति महसूस हुई जो संदेशों को प्रभावशाली ढंग से फैलाता है और लोगों के दिमाग में ऐसी छाप छोड़ता है जिसे लंबे समय तक याद रखा जाएगा।

उसके तुरन्त बाद पुरस्कार वितरण शुरू हो गया। 16वीं मलिकिसिदक साहित्य प्रतियोगिता ने पिछले 1 जून से 15 जुलाई तक छात्रों समेत सभी सदस्यों से निबंध, उपन्यास, बाल कहानी, कविता, विचारलेख–स्तंभ, विज्ञापन, चित्रण, कार्टून और पुस्तक्रवेब डिजाइन की विधाओं में और कोरियाई, अंग्रेजी, स्पेनी, चीनी और अन्य भाषाओं में रचनाओं को आमंत्रित किया। अंतत: पूरे संसार से 1,200 से अधिक रचनाएं इकट्ठी की गई, और 39 सदस्यों को पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

1ली एलोहीम वीडियो महोत्सव प्रतियोगिता ने सेमी–डॉक्यूमेन्टरी, छोटी फिल्म, म्यूजिक वीडियो, 2डी/3डी/फ्लैश एनीमेशन, यूसीसी, विज्ञापन, और एनीमेशन के क्षेत्र में वीडियो को आमंत्रित किया। कुल मिलाकर 180 से अधिक वीडियो इकट्ठे किए गए, और फायनल में प्रवेश करनेवाले 49 वीडियो में से 15 वीडियो को पुरस्कार के लिए चुना गया। इसके अलावा, “परमेश्वर की बड़ाई करो” लेखन प्रतियोगिता और 1ली एलोहिस्ट कवर फोटो प्रतियोगिता के छह विजेताओं को भी पुरस्कृत किया गया।
माता ने हर एक विजेता को प्रमाणपत्र व पुरस्कार दिया और ताली बजाते हुए बधाई दी। जब भी किसी विजेता का नाम पुकारा जाता था, तब दर्शकों के तालियों की गड़गड़ाहट और जयजयकार की आवाज सुनाई देती थी। “हर कोई जिसने एक पुस्तक या एक वीडियो के प्रकाशित होने तक चुपचाप मेहनत से काम किया है, एक विजेता है,” यह कहकर, माता ने समारोह में उपस्थित सभी सदस्यों को प्रोत्साहन दिया और धन्यवाद व्यक्त किया।

“हम परमेश्वर को धन्यवाद देते हैं जिन्होंने सुसमाचार के कार्य में मदद करने के लिए किए गए हमारे प्रयासों से प्रसन्न होकर हमें पुरस्कार दिया है, और हम आत्माओं के उद्धार के लिए उपयोगी रचनाओं को बनाने की कोशिश करेंगे,” यह कहकर, विजेताओं ने अपना दृढ़ संकल्प व्यक्त किया।

ⓒ 2015 WATV


इंटरव्यू 1-निबंध में मलिकिसिदक साहित्य प्रतियोगिता की स्वर्ण पदक विजेता, किम सु यंग(कोरिया के बुसान में डोंगरे चर्च से)
मैंने अपने लेखन में उन एहसासों को लिखा जिन्हें मैंने कठिन दौर से गुजरते हुए पाया था। मैंने बस यह आशा की कि पाठक यह सोचते हुए साहस बटोर लें, ‘कठिन स्थितियों में भी परमेश्वर की इच्छा होती है,’ लेकिन लिखते समय मैं अपने अतीत पर चिंतन कर सकी जिससे मैं अधिक परिपक्व बन सकी। मुझे लगता है कि लेखन की यह शक्ति लेखक और पाठक दोनों के मन को प्रभावित करती है और आराम देती है। जैसे परमेश्वर ने मुझे महान साहित्यिक मिशन दिया है, मैं पवित्र आत्मा से प्रेरित होकर लेख लिखकर सुसमाचार के कार्य में अपनी भूमिका निभाना चाहती हूं।

इंटरव्यू 2-छात्र समूह के उपन्यास में मलिकिसिदक साहित्य प्रतियोगिता का स्वर्ण पदक विजेता, पार्क डोंग ह्यान(कोरिया में यंगछन चर्च से)
मेरा सपना लेखक बनने का है। साहित्य इतना शक्तिशाली है कि चाहे मैं किसी व्यक्ति से पहले कभी न मिला हूं, फिर भी मैं उसके मन को प्रेरित कर सकता हूं। एक गलत तरीके से लिखा गया लेख एक हथियार हो सकता है जो लोगों को निराश कर सकता है, लेकिन एक अच्छा लेख एक दवा हो सकता है जो लोगों को दर्द से बचा सकता है। मैं अच्छा लेख लिखना चाहता हूं जो जीवन बचाता है और आशा देता है। मैं विश्वास करता हूं कि परमेश्वर के प्रेम से भरा लेख लिखने का तरीका परमेश्वर की इच्छा के अनुकूल सोचना और कार्य करना है।

इंटरव्यू 3-बाल कहानी में मलिकिसिदक साहित्य प्रतियोगिता की रजत पदक विजेता, सोंग ह्य जिन(कोरिया के बुसान में 4थे जिंगु चर्च से)
भजन संहिता की पुस्तक में बहुत से प्रेरणादायक वचन हैं। मैं उस लेख को लिखना चाहती थी जिससे लोग परमेश्वर की इच्छा के प्रति जागृत हो सकें। इसलिए मैंने एकता के विषय के अंतर्गत एक बाल कहानी लिखी। एक बार मैं एक संतोषजनक वाक्य नहीं लिख सकती थी, इसलिए मेरे मन में हार मानने का ख्याल आया, लेकिन शुरुआत में मेरा जो स्पष्ट लक्ष्य था उसने कहानी को पूरा करने में मेरी मदद की। एकता के अर्थ पर बार–बार विचार करते हुए और सिय्योन के सदस्यों के साथ मेल–मिलाप रखने की कोशिश करते हुए, मेरा बदसूरत व्यवहार और विश्वास थोड़ा सा सुधारा गया। मैंने पहले से ही लेख लिखते हुए बहुत सी चीजें प्राप्त की हैं, लेकिन मैंने पुरस्कार भी पाया है। मैं अधिक आभारी महसूस कर रही हूं।

इंटरव्यू 4-चित्रण में मलिकिसिदक साहित्य प्रतियोगिता की स्वर्ण पदक विजेता, किम ह्वा जंग(कोरिया के सियोल में 3रे सोंगपा चर्च से)
चित्रण में रंग और उज्ज्वलता महत्वपूर्ण होते हैं। वह बहुत उज्ज्वल या बहुत काला नहीं होना चाहिए। जब सभी रंग और उज्ज्वलता अच्छी तरह से आपसी तालमेल और संतुलन बनाए रखते हैं, तब वह एक उत्कृष्ट चित्र बन सकता है। सुसमाचार का कार्य भी ऐसा ही है। जब हम सभी अपने–अपने पद पर अपने मिशन को पूरा करने का प्रयास करें, तब हम उद्धार के सुंदर चित्रण को पूरा कर सकते हैं। मैं सिय्योन में अपने कार्य को मेहनत से करना चाहती हूं और साथ ही ऐसा सुंदर चित्रण बनाकर जो अनुग्रहपूर्ण लेखन के साथ मेल खाता है, साहित्य मिशन में सहायता देना चाहती हूं।

इंटरव्यू 5-सेमी–डॉक्यूमेन्टरी में एलोहीम वीडियो महोत्सव प्रतियोगिता का स्वर्ण पदक विजेता, कोरिया के छन्आन में सबुक चर्च की वीडियो उत्पादक टीम
हमारे चर्च के सदस्य सेमी–डॉक्यूमेन्टरी बनाने के लिए सहमत हुए। लेकिन उसे बनाना वास्तव में बहुत मुश्किल था क्योंकि किसी ने भी वीडियो उत्पादन की पढ़ाई नहीं की थी और हमारे पास उसके बारे में पर्याप्त ज्ञान नहीं था। काम धीमी गति से चल रहा था। उस बीच, हमने एकता के बारे में एक उपदेश सुना और एक साथ प्रार्थना करने और परमेश्वर से बुद्धि मांगने का फैसला किया। तभी उसके बाद आश्चर्यजनक रूप से काम सुचारू रूप से चलने लगा। तो हमने एकता और प्रार्थना की शक्ति का अनुभव किया।
लोगों का कहना कि देखना ही विश्वास करना है। वीडियो जिसे हम आंखों से देख सकते हैं और कानों से सुन सकते हैं, उसका प्रभाव बहुत बड़ा और शक्तिशाली है। एक अच्छा वीडियो किसी के पूरे जीवन में याद रहेगा या किसी के जीवन की दिशा बदल सकता है। हमारा लक्ष्य पूरे संसार को सजीव ढंग से सुसमाचार सुनाना और जितना हो सके उतने ज्यादा लोगों के हृदयों में परमेश्वर की इच्छा को बोना है।

इंटरव्यू 6-म्यूजिक वीडियो में एलोहीम वीडियो महोत्सव प्रतियोगिता का रजत पदक विजेता, कोरिया के ग्वांगजु में बुकगु चर्च की छात्र वीडियो उत्पादक टीम
वीडियो अधिक संदेशों को आसानी से पहुंचाता है। यही उसकी खूबी है। हम यह दिखाना चाहते थे कि चर्च ऑफ गॉड कितना मनोहर है और चर्च ऑफ गॉड जानेवाले छात्र कितने उज्ज्वल और अच्छे हैं, इसलिए हमने एक म्यूजिक वीडियो बनाया। सामग्रियों और विचारों की कमी और लोगों की संख्या के कम होने के कारण विभिन्न दृश्य बनाने में कई मुश्किलें थीं। उसके बावजूद हमने एक साथ मिलकर काम किया और इससे हम सुचारू रूप से कार्य पूरा कर सके। अगली बार हम एक वीडियो बनाना चाहते हैं जो भारी पढ़ाई में थके छात्र सदस्यों को माता–पिता का प्रेम महसूस कराता है।

चर्च का परिचय वीडियो
CLOSE