한국어 English 日本語 中文 Deutsch Español Tiếng Việt Português Русский लॉग इनरजिस्टर

लॉग इन

आपका स्वागत है

Thank you for visiting the World Mission Society Church of God website.

You can log on to access the Members Only area of the website.
लॉग इन
आईडी
पासवर्ड

क्या पासवर्ड भूल गए है? / रजिस्टर

कोरिया

15वां मलिकिसिदक साहित्य पुरस्कार समारोह

  • देश | कोरिया
  • तिथि | 21/दिसंबर/2014

विश्वास के पूर्वज इब्राहीम का जीवन, फसह के पर्व की सामर्थ्य, लाल समुद्र का चमत्कार, राजा दाऊद के कार्य, यीशु मसीह की आध्यात्मिक शिक्षाएं, हर प्रकार से सताए गए प्रथम चर्च के प्रेरितों के पदचिन्ह... हजारों वर्ष का इतिहास आज तक इसलिए सौंपा जा सका है, क्योंकि यह सब “अक्षरों” में लिखा गया है। समय चाहे कितना भी क्यों न गुजर जाए, और युग चाहे कितना भी क्यों न बदल जाए, पर बाइबल में, जो अक्षरों में लिखी गई है, उद्धार का रहस्य और अपरिवर्तनीय सत्य निहित है, और उसके मूल्यों का प्रकाश सभी युगों में हमेशा चमकता रहता है।

ⓒ 2014 WATV
अपने लेखों से सुसमाचार के कार्य में योगदान देने वाले साहित्यकारों का समारोह, “15वां मलिकिसिदक साहित्य पुरस्कार समारोह” 21 दिसंबर को बुनदांग के डबल्यू एम सी भवन के होलीक्वीन हॉल में आयोजित किया गया। यह समारोह वर्ष 2001 में शुरू होने के बाद अब तक 15वीं बार जारी किया गया है। यह उन लेखकों का पालन पोषण करने के लिए एक वार्षिक समारोह है, जो परमेश्वर की महिमा प्रकट करेंगे। इस पुरस्कार समारोह में साहित्यिक मिशन के लिए काम कर रहे 400 सदस्यों ने भाग लिया; फाइनलिस्टों सहित विजेता, परीक्षक, साहित्य संगठन के सदस्य और प्रकाशन, अनुवाद, पटकथा, फोटोग्राफी एवं चित्रण में योगदान देनेवाले सदस्य शामिल थे।

उस दिन मध्याह्न को पहले भाग में आराधना के दौरान, माता ने उन सिय्योन के लेखकों को प्रोत्साहित किया जो पहाड़ी क्षेत्र, द्वीप, सेना, विदेशों के सुदूरवर्ती क्षेत्र इत्यादि जगहों में जहां सुसमाचार का पहुंचना मुश्किल है, लेखों के द्वारा परमेश्वर की शिक्षाओं को प्रसारित करते हैं, और उन डिजाइन संपादकों को भी प्रोत्साहित किया जो फोटो और चित्र के साथ लेखों का समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने यह कहकर आशीष दी, “सुन्दर परिणाम तब मिलता है जब सब आपसी तालमेल से एक साथ मिलकर काम करें। कृपया परमेश्वर से मिली हुई प्रतिभा के साथ मेहनत से काम कीजिए और स्वर्ग में बहुत से पुरस्कार पाइए।” “अच्छे लेख अंधेरे में रही आत्माओं को ज्योति की ओर ले जाते हैं और सूखते मन को भिगोते हैं।” यह कहकर, माता ने जोर दिया कि साहित्यिक लेख की भूमिका कितनी महत्वपूर्ण है।

ⓒ 2014 WATV
और फिर उन्होंने यह कहकर निवेदन किया, “चूंकि आप परमेश्वर की महिमा प्रकट करते हैं, कृपया अपनी रुचियों को प्रकट करने के बजाय एक मन होकर और एक ही पवित्र आत्मा को अपने में समाकर मेहनत से ऐसा लेख लिखिए जिसमें परमेश्वर की इच्छा निहित है, ताकि अनगिनत लोगों के मन में प्रेम और स्वर्ग की आशा जमा सकें।”(1पत 2:9–12; यश 60:1–3, 21–22)

प्रधान पादरी किम जू चिअल ने यह कहकर उपस्थित सदस्यों को गर्व महसूस कराया है, “आप जो यिर्मयाह और यशायाह नबी जैसे विश्वास के पूर्वजों के समान परमेश्वर की इच्छा लिख रहे हैं, संसार का उद्धार करने में अहम योगदान दे रहे हैं।” उन्होंने सदस्यों से यह भी कहा, “ऐसे मर्मस्पर्शी लेख लिखिए जिनमें पिता और माता का प्रेम और बलिदान समाया हुआ है, और सारे संसार के लोगों के मनों में गहरी गूंज और उत्साह पैदा कीजिए।” और उन्होंने फिलिप्पियों के दूसरे अध्याय का जिक्र किया और यह कहकर लेखकों को सही मानसिकता रखने के लिए जागरूक किया, “यदि आप दूसरे भाई–बहनों के साथ एक मन और एक चित्त रखें, ईष्र्या और बेकार के अहंकार को त्याग दें और नम्र मन से दूसरों को अपने से उत्तम समझते हुए लेख लिखें, तो परमेश्वर प्रसन्न होंगे और आप पाठकों के मन को प्रभावित कर सकेंगे।” फिर उन्होंने उनसे निवेदन किया कि परमेश्वर जो संसार के सभी लोगों को बचाने के लिए परिश्रम करते हैं, उनका अनुसरण करके ऐसे लेख लिखें जो संसार को बचाते हैं, लोगों के घायल मन को सांत्वना देते हैं, थकी आत्माओं को सामर्थ्य देते हैं और पापियों की पश्चाताप करने में मदद करते हैं।

आराधना के बाद पुरस्कार समारोह शुरू हुआ। 15वीं मलिकिसिदक साहित्य पुरस्कार प्रतियोगिता ने 1 जून से 15 जुलाई तक, कोरियाई, अंग्रेजी, स्पेनी, चीनी और अन्य भाषाओं में और उपन्यास, निबंध, बाल कहानी, बाल कविता, विचारलेख–स्तंभ और समाचार लेख इत्यादि 6 विधाओं में पूरे संसार से 1,400 रचनाएं इकट्ठी की थीं। अंतत: 28 वयस्क और 8 छात्र पुरस्कार विजेता रहे।

माता ने विजेताओं को प्रमाणपत्र व पुरस्कार दिए और बधाई दी। उन्होंने सभी उपस्थित सदस्यों से कहा, “आपने अच्छे लेख लिखने के लिए दिन–रात बहुत मेहनत की। आप सब को स्वर्ग में बड़ा पुरस्कार मिलेगा।” समारोह में उपस्थित सभी सदस्य और पुरस्कार विजेताओं ने एक दूसरे को बधाई दी और प्रोत्साहित किया।

पुरस्कार समारोह के बाद दो वीडियो दिखाए गए। “पीले खिलौने की दुकान जो आनन्द सौंपती है,” शीर्षक एक एनीमेशन वीडियो ने, जो एक पुरस्कार विजेता बाल कहानी से नाटकीय ढंग से रूपांतरित किया गया था, सदस्यों का मर्मस्पर्श किया, और वे बच्चों की मासूमियत से भर गए; इस कहानी ने दिखाया कि कैसे एक गुड़िया ने दुकान की मालकिन और दोस्तों के द्वारा प्रेम महसूस किया और आनन्द का अर्थ समझा। फिर सदस्यों ने “एक और गर्भनाल” शीर्षक एक कविता–पाठ का वीडियो भी देखा जिसमें घर की याद दिलाने वाले चित्र और सैन्ड आर्ट धीमे संगीत के साथ दिखाए गए, और उनका हृदय द्रवित हो गया। उसमें उन माता के प्रेम का वर्णन किया गया जो संतानों के बड़े होने तक लगातार बलिदान करती हैं जैसे गर्भनाल दस महीनों तक बच्चे को पोषक तत्व प्रदान करती है।

निबंध विधा में पुरस्कार विजेता, युन उन जु ने कहा, “मुझे लगता है कि यद्यपि मेरे लेख लिखने की क्षमता में कमी है, लेकिन परमेश्वर ने मुझे विश्वास और साहस देने के लिए यह पुरस्कार दिया है। मैं बहुत आभारी हूं। लेख के बाह्य रूप पर ध्यान देने के बजाय, मैं ऐसा लेख लिखूंगी जो पाठकों के हृदय को स्पर्श कर सकता है।” बाल कहानी विधा में पुरस्कार विजेता, छात्रा किम ह्यो जंग ने यह कहकर अपना संकल्प प्रकट किया, “मैंने प्रेम के विषय में लेख लिखने के दौरान बहुत सी चीजें सीखीं। आगे मैं ऐसा लेख लिखूंगी जो दूसरों का मर्मस्पर्श कर सकता है और जिससे मैं विकसित हो सकती हूं।” और समारोह में उपस्थित सभी सदस्य और दूसरे पुरस्कार विजेताओं ने बताया कि चूंकि उनकी तुलना यिर्मयाह और यशायाह जैसे नबियों से करते हुए उन्हें साहित्य प्रचार मिशन के महत्व का एहसास कराया गया है, उन्हें अपनी जिम्मेदारी का बोध हुआ है और उनका दिल धड़क रहा है, और फिर निश्चय किया कि वे आगे पवित्र आत्मा से प्रेरणा पाकर अपने विचार के अनुसार नहीं, पर परमेश्वर के मन के अनुसार लेख लिखकर अनेक लोगों को प्रभावित करेंगे और खुशी सौंपेंगे।

मलिकिसिदक साहित्य पुरस्कार प्रतियोगिता के द्वारा पैदा किए गए प्रतिभाशाली सदस्यों के लेखों का उपयोग सुसमाचार के हर महत्वपूर्ण क्षेत्र में किया जा रहा है। अच्छे लेख तभी और अधिक चमक सकते हैं जब वे फोटो, दृष्टांत–चित्र, ग्रैफिक डिजाइन इत्यादि के माध्यमों के साथ तालमेल बिठाते हैं। “हमारी माता” लेखन और तस्वीर प्रदर्शनी जो जून 2013 में शुरू हुई, समाज के हर क्षेत्र के दर्शकों के बड़े उत्साह के माहौल में कोरिया के 28 शहरों में आयोजित की गई है, और उसके कुल दर्शकों की संख्या 3 लाख 30 हजार से अधिक हो गई है। यह भी आपसी तालमेल का परिणाम है जो भिन्न भिन्न माध्यमों ने एक साथ मिलकर पैदा किया है।
“हमारी माता” लेखन और तस्वीर प्रदर्शनी के अलावा “एलोहिस्ट” चर्च ऑफ गॉड की प्रतिनिधिक मासिक पत्रिका, “सोउल(आशा का बाड़ा)” छात्रों की पत्रिका, “सब्त के दिन की तैयारी करने वाला खुशहाल परिवार” परिवारों की पत्रिका, बालकों के लिए पाठ्य पुस्तकें और दूसरी अन्य पुस्तकें जो हमारे हृदय में विश्वास, आशा और प्रेम जमाती हैं, यह सब आपसी तालमेल से रचा गया है।
जो पवित्र आत्मा से प्रेरणा पाकर हर क्षेत्र में साहित्य प्रचार मिशन पूरा कर रहे हैं, उनके जोश एवं प्रयत्न के माध्यम से उद्धार का शुभ समाचार और अधिक दूर तक बड़ी तेज गति से प्रसारित किया जा रहा है।

ⓒ 2014 WATV
चर्च का परिचय वीडियो
CLOSE