한국어 English 日本語 中文 Deutsch Español Tiếng Việt Português Русский लॉग इनरजिस्टर

लॉग इन

आपका स्वागत है

Thank you for visiting the World Mission Society Church of God website.

You can log on to access the Members Only area of the website.
लॉग इन
आईडी
पासवर्ड

क्या पासवर्ड भूल गए है? / रजिस्टर

कोरिया

चर्च ऑफ गॉड को राष्ट्रपति के प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया

  • देश | कोरिया
  • तिथि | 08/जून/2015
ⓒ 2015 WATV
ⓒ 2015 WATV
29 मई को चर्च ऑफ गॉड वल्र्ड मिशन सोसाइटी को राष्‍ट्रीय समुद्री दिवस की 20वीं सालगिरह के मौके पर राष्ट्रपति के प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया जो संगठन के लिए दिया जाने वाला सबसे सर्वोच्च पुरस्कार है। इसके द्वारा देश भर में समुद्री पर्यावरण के संरक्षण और आपदा राहत के लिए किए गए चर्च ऑफ गॉड के उत्कृष्ट योगदान को देश की ओर से मान्यता प्रदान की गई।

8 जून को सेजोंग सरकारी कार्यालय में आयोजित एक प्रशंसनीय व्यक्तियों के लिए पुरस्कार वितरण समारोह में कोरिया के समुद्री मामलों और मत्स्य पालन उपमंत्री किम यंग सक ने चर्च ऑफ गॉड को प्रशस्ति पत्र और बैनर प्रदान किया। उस दिन चर्च ऑफ गॉड ही एकमात्र था जिसने संगठन पुरस्कार प्राप्त किया। उपमंत्री किम ने कहा, “चर्च ऑफ गॉड शोकग्रस्त क्षेत्र में एक आध्यात्मिक लंगर बन गया है। आपने अपने समर्पित प्रयासों से देश की सारी जनता को प्रेम का संदेश दिखाया है, और आपको राष्ट्रपति के प्रशस्ति पत्र से पुरस्कृत करना सही है। हम आपकी कड़ी मेहनत की सराहना करते हैं।” उपमंत्री किम ने जिन्होंने सिवोल जहाज हादसे के बाद बहुत बार जीनदो में दुर्घटना स्थल का दौरा किया था, चर्च ऑफ गॉड के सदस्यों को मुफ्त में भोजन प्रदान करते हुए देखा था। उन्होंने कहा, “आपने लंबे समय तक बिना किसी शिकायत के मुफ्त में बहुत से लोगों को भोजन खिलाया। इतना ही नहीं, पीड़ितों के प्रति आपकी मुस्कान और दयालुता सचमुच एक बड़ी सांत्वना बनी। हम आशा करते हैं कि आप ऐसी मानसिकता के साथ कोरिया की अगुवाई अच्छे से करें। हम आपके प्रेम और समर्पण को सदा याद रखेंगे।”

पुरस्कार प्राप्त करने के बाद चर्च ऑफ गॉड के प्रधान पादरी किम जू चिअल ने कहा, “अब तक देश भर में हमारे चर्च के सदस्यों ने अपने व्यस्त दैनिक कार्यों के बावजूद एक मन होकर अपने पड़ोसियों और समाज की सहायता की है। यह सब इसलिए संभव हो सका क्योंकि हमारे सभी कार्यों के केंद्र में परमेश्वर की शिक्षाएं थीं जिन्होंने हमें प्रेम देने और दूसरों की सेवा करने के नमूने दिखाए। हम माता के मन से जो अपने परिवार की प्रेम से देखभाल करती हैं, जितना भी संभव हो सके मदद करना जारी रखेंगे।”

राष्ट्रपति के प्रशस्ति पत्र का मूल्य महान है। जब सरकारी पुरस्कार की नीति का और अधिक दृढ़ीकरण हुआ था, उस बीच उम्मीदवारों के चयन एवं उपलब्धियों के आकलन से लेकर पुरस्कार के पैमाने के निर्धारण तक एक सूक्ष्म परीक्षण और पुष्टिकरण के बाद यह प्रदान किया गया। सरकारी पुरस्कारों में से एक व्यक्ति के लिए सबसे बड़ा पुरस्कार राष्ट्रपति का पदक है, और एक समूह या संगठन के लिए सबसे बड़ा पुरस्कार राष्ट्रपति का प्रशस्ति पत्र है। आम तौर पर, यह पुरस्कार एक समूह या संगठन को प्रदान किया जाता है जो पांच से अधिक वर्षों तक किसी क्षेत्र में अच्छी सेवाएं प्रदान करता है। वास्तव में एक धार्मिक संगठन को यह पुरस्कार प्राप्त होना बहुत असामान्य और आश्चर्य की बात है। समुद्री मामलों और मत्स्य पालन मंत्रालय ने कहा कि बहुत वर्षों से चर्च ऑफ गॉड ने तूफान और तेल के रिसाव से प्रभावित क्षेत्रों में बहाली कार्य करने में और समुद्रतटों के आसपास सफाई अभियान के द्वारा समुद्री पर्यावरण को संरक्षित करने में और दुर्घटना की रोकथाम करने में बड़ा योगदान दिया है।

चर्च ऑफ गॉड अब तक विभिन्न आपदा प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बहाली कार्य करने में आगे रहा: टेआन समुद में तेल के रिसाव से हुई आपदा में जो एक बड़ी राष्ट्रीय आपदा थी, साफ–सफाई का काम किया, और यसु में तेल के रिसाव से प्रभावित क्षेत्र में नि:शुल्क भोजन प्रदान किया, और ग्यंगनाम प्रांत के गोसंग और जन्नाम प्रांत के वानदो और जीनदो में तूफान से क्षतिग्रस्त क्षेत्र में राहत कार्य किया। सिवोल जहाज हादसे के बाद जिससे पूरा देश शोक में डूब गया था, हाल ही में जन्नाम प्रांत के चर्च ऑफ गॉड के लगभग कुल 700 सदस्यों ने जीनदो व्यायामशाला में पीड़ितों के दुखों को साझा करने के लिए 44 दिनों तक मुफ्त में भोजन प्रदान किया। चर्च ऑफ गॉड देश भर में जलवायु परिवर्तन और प्रदूषण के कारण बीमार हो रहे बंदरगाह और समुद्र में भी लगातार सफाई अभियान चला रहा है।

पुरस्कार जीतने का समाचार सुनने पर चर्च ऑफ गॉड के सदस्यों ने कहा, “जैसे माता ने हमें सिखाया है, अब हम प्रेम का अभ्यास करके अपने पड़ोसियों को खुशी पहुंचाते हैं और इससे हम भी खुशी महसूस कर रहे हैं, और यह स्वयं ही हमारे लिए एक बड़ा पुरस्कार है। लेकिन सरकार हमारे चर्च के स्वयंसेवा कार्य को स्वीकार करती है और सबसे बड़े पुरस्कार से हमें प्रोत्साहित करती है। हम बहुत खुश हैं।” उन्होंने परमेश्वर को सारी महिमा देकर स्वयंसेवा गतिविधियों और अच्छे कार्यों में अपने आपको और अधिक समर्पित करने का अपना मन बनाया।

ⓒ 2015 WATV
चर्च का परिचय वीडियो
CLOSE